इस्लामी हक़ायक़ नामें , शिया अक़ायद और अमाल माए तफ़सीलात

यह एक बहुत ही फायदेमंद किताबचा है,जिसमें कई एक ऐसे सवालों के जवाब हैं जो अक्सर शियों के अक़ाएद और अमल के बारे में पूछे जाते हैं। यह जवाब बहुत मन्तक़ी अंदाज़ में दिए गए हैं और इनको अक्सर अहले सुन्नत उलेमा की किताबों के हवाले से दिया गया है। इस मुख़्तसर हक़ाएक़ नामें में बुनयादी मौज़ूआत जैसे- क्या रसूल अल्लाह (स) ने अपना जानाशीन मुक़र्रर किया था ? रसूल अल्लाह (स) के १२ जानाशीन कौन हैं? रसूल अल्लाह (स) के अहले बैत (अस) की इत्तेबा क्यों की जाये? के जवाबात दिए गए हैं । इस के अलावा इस में शियों से मुताल्लिक़ कुछ दूसरे मौज़ू जैसे - क्या शिया किसी मुख्तलिफ क़ुरान पर अक़ीदा रखते हैं? शिया खाक पर सजदा क्यों करते हैं ? शिया नमाज़ों को मिलाकर क्यों पड़ते हैं ? वग़ैरा वग़ैरा के ज़िक्र है

Hindi